Thursday, 20 January 2022, 7:51 AM

धर्म कर्म

त्रिशूल का निशान होता है शुभ

Updated on 20 January, 2022, 7:00
हस्तरेखा ज्योतिष में लोगों की हाथ की लकीरें और निशान देखकर उनके भविष्य के बारें में कई बातों का पता लगाया जा सकता है। हथेली पर कई निशान होते है इन्हीं निशानों में से एक निशान ऐसा होता है जो हजार लोगों में से एक व्यक्ति के हाथ में बना... आगे पढ़े

मंगलसूत्र धारण करने के नियम और इसका महत्व

Updated on 20 January, 2022, 6:45
सनातन धर्म में विवाह में मंगलसूत्र का सबसे अहम स्थान है। इसके साथ ही वैवाहिक जीवन का प्रतीक माने जाने वाले मंगलसूत्र को धारण करने के नियम और सावधानियां भी बतायी गयी हैं। मंगलसूत्र एक काले मोतियों की माला होती है, जिसे महिलाएं अपने गले में धारण करती हैं। इसके अंदर... आगे पढ़े

काली बिल्ली रास्ता काटे तो माना जाता है अशुभ  ?

Updated on 20 January, 2022, 6:30
प्राचीन काल से ही ऐसी मान्यता प्रचलित है कि अगर बिल्ली आपका रास्ता काट दे तो आपको कुछ देर रूक जाना चाहिए या उस रास्ते से नहीं गुजरना चाहिए, खासकर यदि काली बिल्ली आपका रास्ता काटे तो इसे बहुत अशुभ माना जाता है। हमारे परिजन भी हमेशा हमें बिल्ली द्वारा रास्ता... आगे पढ़े

मोटापे का ग्रहों से भी संबंध

Updated on 20 January, 2022, 6:15
मोटापे के लिए ग्रहों को भी जिम्मेदार माना गया है। इसका कारण है कि मोटापे का ग्रहों से भी संबंध बताया जाता है। ऐसे में ज्योतिष के अनुसार ही अग्नि, जल एवं तत्व की राशियों को मोटापा दूर करने के लिए कुछ उपाय करने चाहिए। शरीर में मोटापा बढ़ाने के लिए... आगे पढ़े

सही दिशा में बनवायें खिड़की और दरवाजे 

Updated on 20 January, 2022, 6:00
घर या दुकान में लगे खिड़की-दरवाजे भी आपकी जेब पर असर डालते हैं। इसलिए दरवाजों और खिड़कियों को गलत दिशा में लगाने और उनके गलत दिशा में खुलने या बंद होने पर भी धन की लक्ष्मी नाराज हो जाती है। इस कारण घर में खिड़की ओर दरवाजों को लगवाते समय... आगे पढ़े

कब है बसंत पंचमी? जानें तिथि, मुहूर्त और इस त्योहार का महत्व

Updated on 19 January, 2022, 7:00
माघ का महीना चल रहा है। माघ के महीने में ही बसंत पंचमी का त्योहार बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार हर वर्ष माघ महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि पर बसंत पंचमी का त्योहार मनाया जाता है। बसंत ऋतु को सभी 6 ऋतुओं... आगे पढ़े

क्यों कहा जाता है 'सत्यम शिवम् सुंदरम्'

Updated on 19 January, 2022, 6:45
भगवान शिव भारतीय जीवन की ऊर्जा और रचनात्मक शक्ति के प्रतीक हैं। शिव भारत की धरती की संस्कृति में समाहित हैं। 'सत्यम, शिवम्, सुंदरम्' भारतीय संस्कृति का आदर्श है। सत्य ही शिव, शिव ही सुंदर हैं। शिव स्वास्थ्यप्रद औषधियों के परम ज्ञाता, ज्ञान, योग, विद्या, व्याख्यान तथा सभी शास्त्रों में... आगे पढ़े

कल्पवास क्या होता है,जानिए कल्पवास से जुड़ी मान्यताएं

Updated on 19 January, 2022, 6:30
कल्पवास का अर्थ होता है संगम के तट पर निवास कर वेदाध्ययन, व्रत, संत्संग और ध्यान करना। कल्पवास पौष माह के 11वें दिन से माघ माह के 12वें दिन तक रहता है। कुछ लोग माघ पूर्णिमा तक कल्पवास करते हैं। कल्पवास क्यों और कब से : प्राचीनकाल में तीर्थराज प्रयागराज... आगे पढ़े

तिरुपति बालाजी मंत्र के जाप से जीवन में होते हैं अद्भुत चमत्कार

Updated on 19 January, 2022, 6:15
 तिरुपति बालाजी का दिव्य-भव्य मंदिर आज भी दक्षिण भारतीय वास्तुकला और शिल्प का सर्वोत्तम उदाहरण है। भगवान तिरुपति बालाजी भगवान विष्णु का ही दूसरा रूप है। तिरुपति बालाजी मंत्र से भगवान बालाजी को प्रसन्न किया जाता है,उनके प्रति सम्मान और श्रद्धा प्रकट की जाती है। तिरुपति बालाजी मंत्र अत्यंत प्रभावशाली है... यह... आगे पढ़े

जानें, माघ माह के स्नान की प्रमुख तिथियां और महत्व

Updated on 18 January, 2022, 15:25
  ऐसी मान्यता है कि माघ और कार्तिक माह में प्रतिदिन प्रातःकाल गंगा स्नान कर पूजा करने से व्यक्ति के समस्त पाप कट जाते हैं। साथ ही व्यक्ति को सभी सुखों की प्राप्ति होती है और जन्म-मृत्यु चक्र से मुक्ति मिलती है। हिंदी पंचांग के अनुसार, पूर्णिमा तिथि के बाद नए महीने... आगे पढ़े

विवाह का पहला मुहूर्त 22 जनवरी को, जानिए फरवरी और मार्च के शुभ मुहूर्त

Updated on 17 January, 2022, 6:45
खरमास लगने पर किसी भी तरह का शुभ कार्य करना वर्जित हो जाता है। सूर्यदेव जैसे ही धनु राशि की अपनी यात्रा समाप्त कर मकर राशि में प्रवेश करते हैं वैसे खरमास खत्म हो जाता है। 14 जनवरी की रात लगभग 9 बजे सूर्य राशि परिवर्तन धनु से मकर में आ... आगे पढ़े

जब इंद्र को अपनी पत्नी संग देख गौतम ऋषि ने दे दिया था श्राप

Updated on 17 January, 2022, 6:30
देवराज इंद्र को हिन्दू धर्म में काफी रोचक दिखाया गया है। हालाँकि उनको लेकर कई किस्से प्रचलित हैं। ऐसा ही एक किस्सा एक श्राप से जुड़ा है जो देवराज इंद्र को ऋषि गौतम ने दिया था। आज हम आपको इसी श्राप के बारे में बताने जा रहे हैं। पौराणिक कथा- ऋषि... आगे पढ़े

शाकंभरी जयंती पर देवी के मंत्र, पूजा विधि, महत्व और कथा

Updated on 17 January, 2022, 6:15
 पौष मास के शुक्ल पक्ष में मनाई जाने वाली इस शाकंभरी नवरात्रि में 9 दिनों तक देवी की आराधना की जाती है। यह शाकंभरी नवरात्रि 17 जनवरी तक जारी रहेगी और पौष शुक्ल पूर्णिमा के दिन मां शाकंभरी जयंती उत्सव सोमवार को मनाया जाएगा। इसी दिन अन्नपूर्णा माता की आराधना... आगे पढ़े

मोक्षदा एकादशी: इस सर्वश्रष्ठ एकादशी का वर्त सब को करना चाहिए।

Updated on 17 January, 2022, 6:00
मोक्षदा एकादशी: इस सर्वश्रष्ठ एकादशी का वर्त सब को करना चाहिए। सार हर वर्ष मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को मोक्षदा एकादशी का वर्त रखा जाता है। इस दिन भगवन विष्णु की पूजा अर्चना कर उपवास रखा जाता है। मोक्ष की प्रार्थना के लिए यह एकादशी मनाई... आगे पढ़े

सूर्य नमस्कार से पाएं अनेक समस्याओं का हल तुरंत

Updated on 16 January, 2022, 6:30
ब्रह्मांड में ऊर्जा का अप्रतिम स्रोत सूर्य ही है अत: समस्त विश्व का आधार सूर्य है। सोचने-समझने एवं क्रिया करने की शक्ति प्रदान करता है। अगर किसी प्रकार मनुष्य सूर्य से सीधा संबंध स्थापित करके उसकी शक्ति को अपने भीतर भरने की साधना कर सके तो नि:संदेह उसका शरीर क्रमश:... आगे पढ़े

आपने भी पाल रखा है कुरूप होने का वहम

Updated on 16 January, 2022, 6:30
एक कौआ सोचने लगा कि पक्षियों में मैं सबसे ज्यादा कुरूप हूं। न तो मेरी आवाज ही अच्छी है, न ही मेरे पंख सुंदर हैं। ऐसा सोचने से उसके अंदर हीनभावना भरने लगी और वह दुखी रहने लगा। एक दिन एक बगुले ने उसे उदास देखा तो उसकी उदासी का... आगे पढ़े

क्या है गहोई दिवस, सूर्यवंशी समाज क्यों मनाता है यह दिवस

Updated on 16 January, 2022, 6:15
 गहोई समाज प्रतिवर्ष जनवरी संक्रांति पर गहोई दिवस मनाता है। क्या है इसे मनाने की मान्यता और किस तरह मनाते हैं यह दिवस, आओ जानते हैं इस संबंध में संपूर्ण जानकारी। 1. क्या है गहोई समाज : जब समुदाय या समाज बढ़ता है तो उसी के भीतर नई पहचान और परंपराओं... आगे पढ़े

जीवन में आ रही धन संबंधी हर परेशानी दूर करने के लिए पौष पूर्णिमा के दिन करें ये उपाय

Updated on 16 January, 2022, 6:00
पौष पूर्णिमा के दिन व्रत रख कर चंद्रमा और देवी लक्ष्मी की पूजा करने से धन में वृद्धि होती है और जीवन में सुख समृद्धि आती है. जानें पौष पूर्णिमा कब है. साथ ही धन और सुख समृद्धि के लिए पौष पूर्णिमा के दिन क्या उपाय करें. सुख सौभाग्य पाने... आगे पढ़े

साल 2022 का पहला शनि प्रदोष योग 15 जनवरी को, इस दिन व्रत-पूजा से बढ़ेगा सौभाग्य

Updated on 15 January, 2022, 6:45
शनि प्रदोष के शुभ योग में शिव पूजा करने से हर तरह के दोष खत्म हो जाते हैं। शनि प्रदोष के दिन व्रत, पूजा और दान करने से सुख और सौभाग्य बढ़ता है। शारीरिक परेशानियां दूर होती हैं। उम्र बढ़ती है। संपत्ति और धन लाभ भी होता है। जरूरतमंद लोगों को... आगे पढ़े

माता वैष्णो देवी की पुरानी गुफा में होगी पूजा

Updated on 15 January, 2022, 6:30
माता वैष्णो देवी भवन पर हर वर्ष की तरह पुरानी गुफा को श्रद्धालुओं के लिए नहीं खोला जाएगा। यह फैसला श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड द्वारा दिन-ब-दिन बढ़ रहे करोना संक्रमण को देखते हुए लिया जा रहा है। हालांकि शुक्रवार को मकर सक्रांति के उपलक्ष्य पर पुरानी गुफा के... आगे पढ़े

हर की पौड़ी के सभी गंगा घाट सील, मकर संक्रांति पर पसरा रहा सन्नाटा

Updated on 15 January, 2022, 6:15
 मकर संक्रांति पर्व पर हरिद्वार में हर की पौड़ी के सभी गंगा घाटों को सील कर दिए जाने से इन घाटों पर सन्नाटा पसरता रहा। पिछले सालों तक देश के कोने-कोने से आए श्रद्धालु हर की पैड़ी पर गंगा में डुबकी लगाकर पुण्य अर्जित करते थे। लेकिन बढ़ते कोरोना संक्रमण... आगे पढ़े

आखिर क्यों विष्णु जी के वाहन बने गरुड़, जानिए पौराणिक कथा

Updated on 15 January, 2022, 6:00
हिन्दू धर्म में कई ऐसी कहानियां और किस्से हैं जो आप सभी ने सुने या पढ़े होंगे, हालाँकि कई ऐसे भी होंगे जिनके बारे में आप नहीं जानते होंगे. अब आज हम आपको बताने जा रहे हैं एक ऐसा ही किस्सा जो आप शायद ही जानते होंगे. जी दरअसल यह... आगे पढ़े

शनि दोष से चाहिए मुक्ति, तो मकर संक्रांति के दिन करें ये उपाय

Updated on 14 January, 2022, 6:45
मकर संक्रांति के दिन सूर्य उपासना का महत्व है। मकर संक्रांति के दिन सूर्य धनु राशि से निकल कर मकर राशि में प्रवेश करते हैं। सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण होते हैं। पौराणिक मान्यताओं कि मानें तो मकर संक्रांति के दिन सूर्य अपने पुत्र शनि के घर जाते हैं। इसलिए मकर संक्रांति... आगे पढ़े

ऐसे मनाते हैं असम में मकर संक्रांति की तरह भोगाली बिहू त्योहार

Updated on 14 January, 2022, 6:30
बिहू असम में फसल कटाई का प्रमुख त्योहार है। यह फसल पकने की खुशी में मनाया जाता है। इसी त्योहार को पूर्वोत्तर क्षेत्र में भिन्न-भिन्न नाम से मनाते हैं। एक वर्ष में यह त्योहार तीन बार मनाते हैं। पहला सर्दियों के मौसम में पौष संक्रांति के दिन, दूसरा विषुव संक्राति... आगे पढ़े

बुध पर्वत पर त्रिशूल का निशान माना जाता है बेहद शुभ

Updated on 14 January, 2022, 6:15
 हस्त शाश्त्र भारत का एक बहुत पुराना एवं प्रचलित शाश्त्र है। यह एक कला है जिसकी मदद से व्यक्ति के भूत भविष्य और वर्तमान को जाना जा सकता है।ज्योतिष ज्ञाता हाथो की उंगलिया उनका रंग और नाख़ून से ही व्यक्ति का भविष्य बता देते है। मानना है की हथेली पर... आगे पढ़े

क्या है सूर्य के उत्तरायण होने का महत्व, इसे क्यों कहते हैं देवताओं का दिन?

Updated on 14 January, 2022, 6:00
हिंदू धर्म में उत्तरायण पर्व का विशेष महत्व होता है। सूर्यदेव के उत्तरायण होने पर पवित्र नदियों में स्नान, ध्यान और दान किया जाता है। मान्यता है इस दिन किया गया दान और गंगा स्नान से कई गुना फल की प्राप्ति होती है। आगे जानिए सूर्य के उत्तरायण (Uttarayan 2022) का... आगे पढ़े

नारियल चढ़ाकर पा सकते है बाप्पा से मनचाहा वरदान

Updated on 13 January, 2022, 7:00
बाप्पा के आपने कई रुप देखे होंगे, लेकिन मध्यप्रदेश के महेश्वर में गजानन की गोबर की मूर्ति है। ये मूर्ति हजारों साल पुरानी है, कहते हैं यहां नारियल चढ़ाकर पा सकते है बाप्पा से मनचाहा वरदान। माथे पर मुकुट, गले में हार, और खूबूसरत श्रृंगार बाप्पा के इस मनमोहक रूप में... आगे पढ़े

इन वस्तुओं से बढ़ता है आपसी प्रेम

Updated on 13 January, 2022, 6:45
कुछ वस्तुएं ऐसे होती है जो बेहद शुभ होती हैं और आपसी प्यार बढ़ाती हैं। दैनिक जीवन में इनके उपयोग से आपका प्रेम दिन प्रतिदिन बहुत ज्यादा बढ़ने लगेगा। ये वस्तुए और इनका प्रयोग इस प्रकार करें। प्रेम बढ़ाने वाली 7 वस्तुएं- गुलाबी रंग गुलाबी रंग को हमेशा से प्रेम का रंग माना... आगे पढ़े

यहां ब्रह्मकमल से होता है अभिषेक

Updated on 13 January, 2022, 6:30
सनातन धर्म में भगवान गणेशजी के जन्म के बारे में अनेक कथाएं प्रचलित हैं। भगवान शिव ने क्रोधवश गणेशजी का सिर धड़ से अलग कर दिया था, बाद में माता पार्वतीजी के कहने पर उन्होंने हाथी का मस्तक लगाया, लेकिन गणेशजी का जो मस्तक कटा था, उसे शिवजी ने एक... आगे पढ़े

दक्षिण दिशा में न लगायें तुलसी

Updated on 13 January, 2022, 6:15
सनातन धर्म में तुलसी का पौधा बेहद पवित्र और पूज्यनीय माना जाता है। इसलिए प्रत्येक घर में सुख, शांति के लिए यह पौधा लगाया जाता है और दीपक जलाने के साथ ही इसकी सुबह-शाम पूजा होती है। तमाम गुणों से युक्त तुलसी के पौधे को सही दिशा में होना चाहिए।... आगे पढ़े